जल सरंक्षण एवं संवर्धन के लिए नालो को पुर्नजीवित करना जरूरी – कलेक्टर

रायपुर – 19 जून 20120 – शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा,घुरुवा और बाड़ी अंतर्गत जिले में चंपारण नरवा के जीर्णोद्धार पर किये जा रहे कार्यो का कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन और सीईओ डॉ गौरव कुमार सिंह ने निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन ने चंपारण नाला में ग्राम तोरला में बनाए गए परकोलेशन टैंक पर होने वाले पानी संग्रहण के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि शासन के निर्देशानुसार नरवा को पुनर्जीवन देने के लिए कार्य योजना बनाया जाना है,जिससे जल सरंक्षण और संवर्धन को बढ़ावा मिल सके।

भू-जल स्तर में वृद्धि के लिए नालो को पुर्नजीवित करना आवश्यक है।ग्राम तोरला में बनाये गए परकोलेशन टैंक में अधिक से अधिक पानी का संग्रहण हो सके तथा इसको और अधिक उपयोगी बनाने के लिए संबंधित अधिकारी-कर्मचारी को निर्देश दिए।

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ गौरव कुमार सिंह बताया कि नरवा कार्यक्रम के तहत जिले में प्रत्येक विकासखंड में 10 नालो के आधार पर कुल 40 नरवा का चिन्हांकन किया गया है।इन 40 नरवा का विस्तृत कार्य योजना तैयार करके 616 कार्य प्रस्तावित एवं स्वीकृत किए गए है।

इसी तरह अभनपुर विकासखंड में 10 नालो के विस्तृत कार्य योजना तैयार किए गए है,जिसमे खोरपा,चंपारण और तारबन्ध नाला प्रमुख है।इन नालो का पुनरुद्धार होने से क्षेत्र के जल स्तर में वृद्धि होगी।

निरीक्षण के दौरान गांव के सरपंच,पंचगण, एसडीएम सूरज साहू,अभनपुर जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री शीतल बंसल,संबंधित अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *