जिस सभा और राज में नारी का अपमान होता है, उनका सर्वनाश निश्चित है : फूलोदेवी नेताम

रायपुर। देश के सर्वोच्च सदन में हुए हमले पर राज्यसभा सांसद व छत्तीसगढ़ महिला कांग्रेस कमेटी के प्रदेशाध्यक्ष फूलो देवी नेताम ने केंद्र सरकार पर तीखा प्रहार किया है. उन्होंने कहा कि देश के सर्वोच्च (उच्च) सदन में जिस ढंग से नारी शक्ति की आवाज को दबाने के लिए सुनियोजित ढंग से हिंसात्मक हमले की गई थी, इस घटना से पूरा हिंदुस्तान शर्मिंदा है.फूलो देवी नेताम ने कहा कि मैं जब भी अपने साथ हुए घटना को याद करती हूं, तो दिल दहल जाता है. उन्होंने अपने साथ साथी महिला कांग्रेस सांसद छाया वर्मा के साथ हुई घटना के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि देश के सदन में उनके साथ हुए अन्याय को जनता की अदालत में ले जाएंगी.

 

इसके लिए देशव्यापी अभियान भी चलाया जाएगा, इनकी शुरुआत छत्तीसगढ़ से हो गई है. सांसद नेताम ने इसके लिए ‘नारी शक्ति का अपमान अब नही सहेगा हिंदुस्तान’ का नारा भी दिया हैसांसद नेताम ने भारत की प्राचीनतम सनातन धर्म का उदाहरण भी दिया है. उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में नारी के सम्मान को बहुत महत्व दिया गया है. संस्कृत में एक श्लोक है- ‘यस्य पूज्यंते नार्यस्तु तत्र रमन्ते देवता:. अर्थात्, जहां नारी की पूजा होती है, वहां देवता निवास करते हैं. महाभारत में कहा गया है कि जिस कुल में नारियों की उपेक्षा भाव से देखा जाता है उस कुल का सर्वनाश हो जाता है. उन्होंने कहा की सतयुग और द्वापर युग की सभा में नारी शक्ति स्वरूपा को अपमानित किया तब उस सभा और राज का भी सर्वनाश हुआ है.

 

सांसद ने कहा कि देश के उच्च सदन में हम छत्तीसगढ़ की जनता के हक और उनके न्याय के लिए आगे भी अपनी लड़ाई जारी रखेंगे. देश में बढ़ते खाद्य पदार्थों और ईंधन आइलो की महगांई, किसानों को दमन करने वाले किसान बिल के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करते रहेंगे. आज समूचा देश मंहगाई के जल रहा है. आज लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, और केंद्र सरकार अमृत उत्सव मनाने में व्यस्त है.फूलो देवी ने कहा कि यह ना तो सतयुग और ना ही द्वापर युग है. यह तो कर्म और धर्म युग है. इस युग में हमारे कर्म और धर्म को दबाने की कोशिश की जाएगी तो उनका भी सर्वनाश होना तय है.

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *