छत्तीसगढ़ कांग्रेस पार्टी के पिछड़ा वर्ग की प्रदेश सचिव कर रही है अवैध रूप से स्कूल का संचालन:-अनुसिंह

रायपुर,जब से कांग्रेस की सरकार आई है छत्तीसगढ़ ऐसा कोई भी अवैध काम नहीं है जो ना हो रहा हो इसी कड़ी में कांग्रेस पार्टी अपने ही कार्यकर्ताओं के द्वारा अवैध रूप से स्कूल का संचालन करवाती है और एक तरफ कहती है कि छत्तीसगढ़ को सुंदर विकसित राज्य बनाना है बच्चों को शिक्षा देना है और दूसरी तरफ शिक्षा का अवैध कारोबार उनकी ही पार्टी की उषा श्रीवास जो स्वामी विवेकनंद स्कूल lig 294 में संचालित करती है क्या एक कमरे में स्कूल का संचालन संभव है जब इसकी जानकारी समाजसेवी अनु सिंह को होती है वह तत्काल इस बात को संज्ञान में लेकर के डीईओ ऑफिस पहुंचकर वहां से जानकारी पता लगाई तब पता चला की ऐसा कोई भी स्कूल विभाग के जानकारी में नहीं है वो भर निकल कर जांच की मांग करती हैं विभाग के द्वारा इतनी लापरवाही बरती जाती है कि एक हफ्ते बाद जब जांच बैठाई जाती है तब पता चलता है कि उसी दिन विभाग में स्कूल संचालिका आवेदन देती हैं

 

एक तरफ शिक्षा विभाग का कहना है कि मान्यता प्राप्त करने के लिए जब आवेदन आएगा तभी आप आवेदन भरकर मान्यता ले सकते हैं दूसरी तरफ अवैध रूप से स्कूल संचालन कर रही महिला कल दिनांक 31 अगस्त 2021 को मान्यता के लिए आवेदन देती है और उसको स्वीकार कर लिया जाता है तो इससे साफ जाहिर होता है कि कांग्रेस की सरकार सभी विभागों को अपना गुलाम बना कर रखी है और उनके इशारों पर सारे काम होते हैं और कांग्रेस ऐसी ही महिलाओं को आगे बढ़ाती है जो अवैध काम कर सके कुछ समय पहले भी सूचनाएं आई थी कि हुई श्रीमती उषा श्रीवास ने कुछ गलतियां की थी जिसकी वजह से पार्टी से उनको बाहर निकाला गया था वापस उनको पिछड़ा वर्ग का प्रदेश सचिव बना दिया गया शायद कांग्रेस पार्टी अवैध काम करने वालों के साथ ही सरकार बना सकती है साफ-सुथरे लोगों के साथ शायद वह सरकार नहीं बना सकती और स्कूल को मान्यता प्राप्त नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *